शब्द रूप

Manas Shabd Roop in Sanskrit – मनस् शब्द के रूप संस्कृत में

Rate this post

हेल्लो दोस्तों स्वागत है आपका हमारी शब्दरूप वेबसाइट पर जहाँ हम आपके लिए रोजाना यूज़फुल आर्टिकल लेकर आते रहते हैं। आज के इस लेख में हम आपको Manas Shabd Roop संस्कृत अर्थ के बारे में बताएँगे। इसके साथ hi हम आपको मनस् शब्द से सम्बंधित परीक्षा में पुछे जाने वाले प्रश्नों के बारे में बताएँगे।

अगर आप एक स्टूडेंट हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए काफी ज्यादा हेल्प फुल होने वाला है। क्योंकि शब्द रूप से सम्बंधित अक्सर परीक्षाओ में प्रश्न पुछे जाते हैं। कभी कभी Manas Shabd Roop के बारे में भी परीक्षा में पुछ लिया जाता है इसलिए आपको इसके बारे में जानकारी होना चाहिए।

इससे पिछले आर्टिकल में हमने आपको Dhan Shabd Roop in Sanskrit अर्थ के बारे में बताया है। इसके साथ साथ हमने आपको धन शब्द रूप से सम्बंधित पुछे गए प्रश्नों के बारे में भी बताया है। अगर आपने हमारा पिछला आर्टिकल नही पढ़ा है तो आप हमारे द्वारा ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करके बहुत आसानी से हमारे इस आर्टिकल को पढ़ सकते हैं।

Bhavan Shabd Roop

अक्सर आपने देखा होगा कि कक्षा 6, 7, 8, 9, 10 के विद्यार्थियों से Manas Shabd Roop के बारे में पुछ लिया जाता है। Manas Shabd Roop के बारे में संस्कृत में जानना चाहते हैं तो आप हमारे द्वारा लिखे गए इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें।

मनस् शब्द का अर्थ (Manas Shabd Roop)

क्या आप Manas Shabd Roop का अर्थ जानना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही आर्टिकल पढ़ रहे हैं। हम आपको बता दें कि मनस, वाचा, कार्मण तीन संस्कृत शब्द हैं। मनस् शब्द का अर्थ होता है मन वाचा का भाषण और कार्मण का अर्थ कुछ काम करना होता है। आपको बता दें प्राणियों में पीड़ा, इच्छा, इच्छा, घृणा, प्रयास, धारणा, विचार आदि अपनी शक्ति या कारण के कारण होते हैं।

यह वह बल है जो धारणा, भावना आदि को प्रभावित करता है। एक व्यक्ति ने कई भारतीय भाषाओं में प्राथमिक और द्वितीयक गुणों के बीच के अंतर को तार्किक रूप से यह तर्क देकर खारिज करने का प्रयास किया कि सभी गुण मन पर निर्भर हैं। नतीजतन, वे किसी वस्तु या सामान पर निर्भर नहीं हैं।

मनस् शब्द का अर्थ (Manas Shabd Roop)
मनस् शब्द का अर्थ (Manas Shabd Roop)

Mala Shabd Roop

Manas Shabd Roop

इससे ऊपर के आर्टिकल में हमने आपको मनस् शब्द के अर्थ के बारे में बताया है। अब हम आपको Manas Shabd Roop शब्दों के बारे में बताने वाले हैं। आपको बता दें शब्द रूप की दृष्टि से संस्कृत व्याकरण में शब्दों को आकारान्त, आकारान्त, इकराँत, एकरान्त, उकारान्त, और रीकारान्त वर्गों में वर्गीकृत किया गया है।

किसी शब्द का लिंग-स्त्रीलिंग, नपुंसक या पुल्लिंग-यह भी प्रभावित करता है कि इसे कैसे लिखा जाता है। जैसे- शब्द मन / मानस रूपांतर: ध्यातव्य के समान, सकारात्मक नपुंसक शब्द जैसे तेजस, तापस, शिरस, सरस (तालाब), और नभस (आकाश), अम्भस (जल), उरस (छाती), पायस (दूध या पानी), अयस ( लोहा), तमस (अंधेरा), वाचस (वाक्), यश (प्रसिद्धि), आदि।

Manas Shabd Roop in Sanskrit

हमने आपको ऊपर के आर्टिकल में मनस् शब्द के अर्थ के बारे में बताया तथा Manas Shabd Roop के अर्थो के बारे में बताया है। अब हम आपको Manas Shabd Roop in Sanskrit में बताने वाले हैं।

आपको बता दें की मनस् शब्द पुल्लिड् संज्ञा शब्द है यह सभी नकारांत पुल्लिड के रूप में इस प्रकार बनते हैं मनोहारिन्, मनीषिन्, मेधाविन्, रोगिन्, वैरिन् आदि पुंल्लिंग संज्ञापदों के रूप इसी प्रकार बनाते है। और अधिक जानने के लिए निचे टेबल दी गई है।

Vriksh Shabd Roop

विभक्तिएकवचनद्विवचनबहुवचन
 प्रथमामनः मनसी  मनांसि 
 द्वितीयामनः मनसीमनांसि 
 तृतीया मनसामनोभ्याम्मनोभिः
 चतुर्थी मनसे  मनोभ्याम् मनोभ्यः 
 पञ्चमी मनसःमनोभ्याम्मनोभ्यः 
 षष्ठी    मनसः मनसोः  मनसाम् 
सप्तमी  मनसिमनसोः  मनस्सु 
सम्बोधन  हे मनस! हे मनसी! हे  मनांसि! 
Manas Shabd Roop in Sanskrit
Manas Shabd Roop in Sanskrit

Akarant Shabd Roop

पुछे गए प्रश्न (FAQs)

इससे ऊपर के आर्टिकल में हमने आपको मनस् शब्द का अर्थ और Manas Shabd Roop in Sanskrit के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी आपको हिंदी में दी है। अब हम आपको कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों के बारे में बताएँगे जो अक्सर परीक्षाओ में पुछ लिए जाते हैं।

प्रश्न- रोटी को संस्कृत में क्या कहा जाता है?

उत्तर- संस्कृत में रोटी को रोटिका और कार्तिका कहा जाता है।

प्रश्न- गिरने वाला विभक्ति क्या है?

उत्तर- गिरते हुए मोड़ का उपयोग पूरे वाक्यों, विशिष्ट विचारों, “w-” प्रश्नों और अंत में अवधियों के साथ घोषणात्मक वाक्यों को निरूपित करने के लिए किया जाता है। आइए घोषणात्मक कथनों पर चर्चा करते हुए प्रारंभ करें। एक तथ्यात्मक कथन वह है जिसे घोषणात्मक कथन के रूप में जाना जाता है।


Madhu Shabd Roop

प्रश्न- विभक्ति के 5 प्रकार कौन से हैं?

उत्तर- संबंधकारक अंग्रेजी भाषा के विभक्तियों में से एक है; नकारात्मक कण ‘एनटी; तीसरा व्यक्ति एकवचन -एस; भूतकाल -d, -ed, या -t; एकाधिक -s; -ing में समाप्त होने वाली क्रियाएं, -er में तुलनात्मक समाप्ति, और अतिशयोक्ति

प्रश्न- संस्कृत में पुरुष क्या है?

उत्तर- पुरुष संस्कृत में तीन अलग-अलग किस्मों में आते हैं: प्रथम पुरुष, मध्यमपुरुष और उत्तमपुरुष। प्रथम-व्यक्ति सर्वनाम का उपयोग किसी अन्य व्यक्ति की चर्चा करते समय किसी वाक्य के विषय को संदर्भित करने के लिए किया जाता है।

प्रश्न- विभक्ति की संख्या कितनी है?

उत्तर- पाणिनीय व्याकरण में ‘उप’ आदि शब्दों के रूप में इन्हें 27 विभक्तियों के रूप में गिना गया है। संस्कृत व्याकरण में “विभक्ति” शब्द शब्द के एक संशोधित संस्करण को संदर्भित करता है। जिसमें रेमन, रामे आदि शामिल हैं।

Pustak Shabd Roop

निष्कर्ष

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आज आपको Manas Shabd Roop के संस्कृत अर्थ के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी है। इससे साथ ही हमने शब्द रूप से सम्बंधित अक्सर पुछे जाने वाले प्रश्नों के बारे में बताया। अब मैं उम्मीद करता हूँ अब आपके मन में मनस् शब्द रूप से सम्बंधित सारे प्रश्न दूर हो गए होंगे।

अक्सर परीक्षाओ में ऐसे प्रश्न पुछ लिए जाते हैं इसलिए आपको इन शब्दों के बारे में जानकारी होना चाहिए। उम्मीद करता हूँ आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों में ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।

रोजाना ऐसे ही यूज़ फुल आर्टिकल रोजाना पढना के लिए “शब्दरूप” वेबसाइट को हमेशा विजित करते रहें क्योंकि हम इस तरह की सारी जानकारी अपनी इस वेबसाइट पर देते रहते हैं। यह आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो हमे कमेंट करके जरुर बताएं मिलते हैं अगले आर्टिकल में जब तक के लिए धन्यवाद।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button