शब्द रूप

Vari Shabd Roop in Sanskrit – वारि शब्द के रूप (संस्कृत व्याकरण)

Rate this post

दोस्तों स्वागत है आपका “शब्दरूप” वेबसाइट पर। हम आज के इस आर्टिकल में आपको वारि शब्द रूप (Vari Shabd Roop) के अर्थ व वारि शब्द के रूप (Vari Shabd Roop) के बारे में विस्तार के साथ बताएंगे। इसके साथ हम आपको वारि शब्द रूप (Vari Shabd Roop) से सम्बंधित अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्नो के बारे में बताएंगे। वारि शब्द रूप के बारे में अधिकतर परीक्षाओं में पूछ लिया जाता है, इसलीए वारि शब्द के बारे में संस्कृत व्याकरण से सम्बंधित छात्रों को पता होना चाहिए।

इस लेख से पिछले लेख में हमने हरि शब्द रूप (Hari Shabd Roop) के बारे में बताया, यह एक महत्वपूर्ण शब्द रूप है इस शब्दरूप के बारे में परीक्षाओं में पूछ लिया जाता है। यदि आपने अभी तक हरि शब्द रूप के बारे में नहीं पड़ा है तो आप हमारी इस वेबसाइट से हरि शब्द रूप (Hari Shabd Roop) के बारे में पढ़ सकते हैं। जिसका लिंक ऊपर दिया गया है।

यदि आप वारि शब्द रूप (Vari Shabd Roop) के बारे में अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो आप सही वेबसाइट पर आए हैं क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको वारि शब्द के रूप (Vari Shabd Roop) के बारे में विस्तार के साथ बताने वाले हैं। तो बिना किसी देरी के आइए जानते हैं वारि शब्द के रूप (Vari Shabd Roop) के बारे में।

Rama Shabd Roop

वारि शब्द का अर्थ

वारि शब्द संस्कृत भाषा का एक महत्वपूर्ण शब्द है जिसका अर्थ जल होता है। हमारे जीवन में जल की महत्वपूर्ण भूमिका होती है इसका महत्वपूर्ण उपयोग वाक्य के विभिन्न पक्षों की प्रभावी व्यक्ति, वचन, कारक, विभक्ति आदि में होता है। आगे के इस आर्टिकल में हम आपको वारि शब्द के बारे में बताने वाले हैं।

वारि शब्द का अर्थ
वारि शब्द का अर्थ

वारि शब्द के रूप संस्कृत में (Vari Shabd Roop in Sanskrit)

इससे ऊपर के लेख में हमने आपको वारि शब्द के अर्थ के बारे में बताया है अब हम आपको वारि शब्द के रूप संस्कृत (Vari Shabd Roop in Sanskrit) के बारे में बताते हैं। वारि शब्द रूप इकारान्त नपुंसकलिंग संज्ञा शब्द है सभी इकारान्त नपुंसकलिंग संज्ञा शब्द रूप इसी तरह लिखे जाते हैं।

विभक्तिएकवचन  द्विवचन बहुवचन 
प्रथमावारिवारिणीवारीणि
द्वितीयावारिवारिणी वारीणि
तृतीया वारिणावारिभ्याम्वारिभिः 
चतुर्थी वारिणेवारिभ्याम्  वारिभ्यः
पञ्चमी वारिणःवारिभ्याम्वारिभ्यः
षष्ठी वारिणःवारिणोः वारीणाम् 
सप्तमी  वारिणिवारिणोः वारिषु 
सम्बोधन हे वारि! हे वारिणी! हे वारीणि! 
Vari Shabd Roop in Sanskrit
Vari Shabd Roop in Sanskrit

Vari Shabd Roop Transliteration

इससे ऊपर के लेख में हमने आपको वारि शब्द के अर्थ के बारे में तथा वारि शब्द के रूप संस्कृत (Vari Shabd Roop in Sanskrit) के बारे में बताया है। अब हम आपको Vari Shabd Roop Transliteration के बारे में बताते हैं। तो देरी किए बिना आइए जानते हैं Vari Shabd Roop Transliteration के बारे में।

VibhaktiEkavachanDvivachanBahuvachan
PrathamāVāriVāriṇī Vārīṇi
Dvitīyā VāriVāriṇī Vārīṇi
Tr̥tīyāVāriṇāVāribhyāṁVāribhiḥ
ChaturthīVāriṇeVāribhyāṁVāribhyaḥ 
PaṅchamīVāriṇaḥ VāribhyāṁVāribhyaḥ   
ṢaṣṭhīVārinaḥVāriṇoḥVārīṇāṁ
SaptamīVāriṇi Vāriṇoḥ Vāriṣu
SambodhanHey Vāre! Hey Vaāriṇī! Hey Vārīni!

इसके आलावा कुछ वारि शब्दरूप व उसके उदहारण नीचे के लिए में दिए गए हैं जो इस प्रकार हैं।

प्रथम पुरुष एकवचन : वारि (जल)

उदाहरण: वारिः शीतलः आह्लादकः।
(जल सुखद, शीतल, आनंदप्रद है।)

प्रथम पुरुष द्विवचन : वारी (जलों)

उदाहरण: वारीः शीतलौ आह्लादकौ।
(जलों सुखद, शीतल, आनंदप्रद हैं।)

प्रथम पुरुष बहुवचन : वरी (जल)

उदाहरण: वरयः शीतलाः आह्लादकाः।
(जल सुखद, शीतल, आनंदप्रद हैं।)

मध्यम पुरुष एकवचन : वारिणा (जल से)

उदाहरण: वारिणा गातव्यम्।
(जल से गाना गाना चाहिए।)

मध्यम पुरुष द्विवचन : वारिभ्याम् (जलों से)

उदाहरण: वारिभ्याम् गच्छावहै।
(जलों से चलना चाहिए।)

मध्यम पुरुष बहुवचन : वारिभिः (जलों से)

उदाहरण: वारिभिः पीयावहै।
(जलों से पीना चाहिए।)

Dev Shabd Roop in Sanskrit

वारि शब्द रूप से संबंधित पूछे गए प्रश्न

आपको हमने इससे ऊपर के लेख में वारि शब्द के अर्थ के बारे में तथा वारि शब्द के रूप संस्कृत के बारे में बताया है। इसके साथ हमने आपको Shabd Roop Transliteration के बारे में बताया है। अब हम आपको वारि शब्द रूप से संबंधित पूछे गए प्रश्न उत्तर के बारे में बताते हैं।

प्रश्न – वारि शब्द के प्रथमा विभक्ति एकवचन का रूप कौन सा है?

उत्तर – वारि शब्द के प्रथमा विभक्ति एकवचन का रूप वारि है।

प्रश्न – वारि शब्द में कौन सी विभक्ति और वचन हैं?

उत्तर – वारि शब्द में  प्रथमा विभक्ति और एकवचन है।

प्रश्न – वारि शब्द का अर्थ क्या होता है?

उत्तर – वारि शब्द संस्कृत भाषा का एक महत्वपूर्ण शब्द है जिसका अर्थ जल होता है। हमारे जीवन में जल की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

प्रश्न – वारि शब्द रूप की प्रथमा विभक्ति का द्विवचन क्या है?

उत्तर – वारि शब्द रूप की प्रथमा विभक्ति का द्विवचन वारिणी है।

प्रश्न – वारि शब्द रूप की पंचमी विभक्ति का द्विवचन क्या है?

उत्तर – वारि शब्द रूप की पंचमी विभक्ति का द्विवचन वारिभ्याम् है।

प्रश्न – वारि शब्द रूप की सप्‍तमी विभक्ति का एकवचन क्या है?

उत्तर – वारि शब्द रूप की सप्‍तमी विभक्ति का एकवचन वारिणि है।

प्रश्न – वारि शब्द रूप की चतुर्थी विभक्ति का द्विवचन क्या है?

उत्तर – वारि शब्द रूप की चतुर्थी विभक्ति का द्विवचन वारिभ्याम् है।

Tat Shabd Roop in Sanskrit

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने आपको वारि शब्द रूप (Vari Shabd Roop) के अर्थ व वारि शब्द के रूप (Vari Shabd Roop) के बारे में विस्तार के साथ बताया है। इसके साथ हमने आपको Shabd Roop Transliteration तथा वारि शब्द रूप से संबंधित पूछे गए प्रश्न उत्तर के बारे में बताया है। यह एक महत्वपूर्ण टॉपिक है इस टॉपिक के बारे में हिंदी व्याकरण से सम्बंधित छात्रों को पता होना चाहिए।

उम्मीद है आपको वारि शब्द रूप के बारे में पता चल गया होगा। इसी प्रकार के नए नए आर्टिकल की जानकारी हम अपनी इस वेबसाइट पर देते रहते हैं। यदि आप इसी प्रकार के यूजफुल आर्टिकल की जानकारी पाना चाहते हैं तो इसी प्रकार के यूजफुल आर्टिकल की जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिए “शब्दरूप” वेबसाइट के साथ तब तक के लिए धन्यवाद।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button